भारत में जिन मुसलमानो की दाढ़ी है पर मूछ नहीं समझ लें कि उनमे गड़बड़ी है : तारिक फतह

0

भारत में जिन मुसलमानो की दाढ़ी है पर मूछ नहीं समझ लें कि उनमे गड़बड़ी है : तारिक फतह

पाकिस्तानी लेखक तारिक फतह ने एक टीवी कार्यक्रम के दौरान एक बड़े पते की बात बताई जो अबतक बहुत से भारतीयों को नहीं पता थी

दरअसल भारत में हमने कई बार देखा होगा की मुस्लमान दाढ़ी रखते है पर मूछ नहीं, कुछ मुस्लमान दाढ़ी के साथ मूछ भी रखते है, पर बहुत सारे मूछ नहीं रखते, उदाहरण के तौर पर तारिक फतह ने बताया की सऊदी अरब में जो कट्टर इस्लामी विचारधारा थी जिसे सलाफी, वहाबी विचारधारा भी कहते है, जो की इस्लामिक आतंक की विचारधारा है वो लोग जो इस सलाफी, वहाबी विचारधारा को मानते है, मूछ न रखना उनका लहजा है, सलाफी, वहाबी लोग मूछ नहीं रखते, केवल दाढ़ी रखते है जो भी मुस्लमान मूछ नहीं रखते केवल दाढ़ी रखते है, समझ लीजिये की वो सलाफी, वहाबी है यानि आतंकवादी है, जिसके मन में काफिरो का क़त्ल करना, काफिर महिलाओ की इज़्ज़त लूटना, पूरी दुनिया को इस्लामी बनाना ही चलता रहता है आपको बता दें की इस्लामिक आतंकी संगठन इस्लामी स्टेट भी वहाबी विचारधारा का ही संगठन है अल कायदा इत्यादि ये सभी सलाफी, वहाबी ही है ये सभी हिन्दुओ का क़त्ल कर भारत को गजवा हिन्द करने का सपना देखते रहते है तारिक फतह ने बताया की जिन भारतीय मुसलमानो के मूछ नहीं है केवल दाढ़ी है उनसे तो अधिक सतर्क रहने की जरुरत है क्योंकि उनमे गड़बड़ी है, सलाफी विचार है

About Author

Leave A Reply